Thursday, July 14, 2016

Kejriwal Delhi government filed no FIR against sheila dixit

केजरीवाल सरकार ने पूर्व सीएम शीला दीक्षित के खिलाफ कोई FIR दर्ज नहीं की- ACB






























केजरीवाल सरकार दावा कर रही थी, कि उन्होने अपने पिछले 49 दिनों के कार्यकाल में पूर्व सीएम शीला दीक्षित के खिलाफ ACB में 4 एफआईआर दर्ज किया था।

दिल्ली के एंटी करप्शन ब्रांच ने पूर्व सीएम शीला दीक्षित के खिलाफ कोई एफआईआर दर्ज नहीं किया है, टाइम्स न्यूज की खबर के अनुसार इस बात का खुलासा एसीबी द्वारा दिये गए एक आरटीआई के जबाव से हुआ है। दरअसल केजरीवाल सरकार दावा कर रही थी, कि उन्होने अपने पिछले 49 दिनों के कार्यकाल में पूर्व सीएम शीला दीक्षित के खिलाफ 4 एफआईआर दर्ज किया था, लेकिन जब इस मामले में आरटीआई लगाकर पूछा गया, तो एसीबी ने जबाव दिया कि ऐसा कोई भी एफआईआर दर्ज नहीं है।
मालूम हो कि आरटीआई एक्टिविस्ट देवाशीष भट्टाचार्य ने दिल्ली के मुख्य सचिव के पास आरटीआई लगाकार जानकारी मांगी थी, कि आम आदमी पार्टी सरकार ने पूर्व सीएम के खिलाफ कितने मामले एसीबी में दर्ज कराये है, इसे मुख्य सचिव ने विजिलेंस विभाग के पास ट्रांसफर कर दिया, जिसके बाद विजिलेंस विभाग ने भी इसे एसीबी के पास भेज दिया। एसीबी के पब्लिक इनफॉरमेशन ऑफिसर ने जबाव दिया, कि उनके रिकॉर्ड्स के आधार पर पूर्व सीएम शीला दीक्षित के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं है।
विदित हो कि इससे पहले 49 दिनों की आम आदमी पार्टी की सरकार में सीएम केजरीवाल ने दावा किया था कि उन्होने जैसे ही सरकार संभाला, तो पूर्व सीएम शीला दीक्षित के भ्रष्टाचार को उजागर करने के लिए धांधली वाले मामलों में जांच के आदेश दे दिये, सीएम केजरीवाल के अनुसार भागीरथी बेस्ट ट्रीटमेंट प्रोजेक्ट, सीडब्लयूजी स्ट्रीट लाइटिंग स्कैम और एएमआर मीटर स्कैम मामले में 2014 में ही एफआईआर दर्ज कर जांच के आदेश दे दिये थे।
मालूम हो कि बीते महीने ही टैंकर घोटाला मामले में एसीबी ने पूर्व सीएम शीला दीक्षित को समन भेजा है, उन्हें जांच में सहयोग करने के लिए समन किया गया है, संभव है कि उनसे जल्द ही पूछताछ होगी। खैर जो भी हो, देवाशीष भट्टाचार्य के इस आरटीआई के बाद इस बात का तो खुलासा हो गया कि दिल्ली सरकार जो दावे जनता और मीडिया के बीच करती थी, उसका सच्चाई से दूर-दूर तक कोई वास्ता नहीं है।

No comments:

Post a Comment