Tuesday, April 4, 2017

Arvind Kejriwal challenged Election commission over EVM issue

EC 72 घंटे के लिए EVM हमें दे, पढ़के और रिराइट करके बता देंगे: केजरीवाल




नई दिल्ली.अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को फिर ईवीएम के टेम्पर प्रूफ होने पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि, ''इलेक्शन कमीशन मध्य प्रदेश के भिंड में सामने आई टेम्पर्ड मशीनों को पब्लिक करे। हमारे पास एक्सपर्ट हैं, 72 घंटे में पढ़के और रिराइट करके बता देंगे है। ईसी ने कानून की धज्जियां उड़ाते हुए यूपी में इस्तेमाल हुईं मशीनों को भिंड भेज दिया।'' दरअसल, केजरीवाल ये दावा कर रहे हैं कि ईवीएम से छेड़छाड़ मुमकिन है। बता दें कि ईसी दिल्ली के सीएम के दावों को खारिज करता आया है। केजरी का दावा- कानपुर से लाई गई थीं मशीनें...
- केजरीवाल ने दावा किया, ''एमपी में जिन मशीनों में गड़बड़ी सामने आई है, वो कानपुर की गोविंद नगर सीट से लाई गईं। भिंड में बाय इलेक्शन के लिए 300 मशीनों का इंतजाम हुआ है। कानूनी तौर पर इलेक्शन नतीजों के 45 दिन तक मशीनों और इनकी पर्चियों को नहीं हटा सकते हैं। क्योंकि कभी भी इलेक्शन पिटिशन फाइल हो सकती है।''
- ''यूपी में 11 मार्च को नतीजे आए, इस हिसाब से 26 अप्रैल तक मशीनों को हटा नहीं सकते थे। फिर क्या मजबूरी थी कि ईसी ने कानून की धज्जियां उड़ाते हुए वक्त से पहले मध्य प्रदेश में इलेक्शन के लिए इन्हें भेजा। टेस्टिंग में मशीन से बीजेपी की पर्ची निकली, उसमें सत्यदेव पचौरी का नाम था। पचौरी गोविंद नगर सीट से बीजेपी के कैंडिडेट थे।''
- ''ईसी बार-बार कहता है कि मशीन को टेम्पर नहीं किया जा सकता। आज मैंने उन्हें लेटर लिखकर कहा है कि हमारे पास एक्सपर्ट्स हैं। आप 72 घंटे के लिए ये ईवीएम हमें दे दो। हम इसके सॉफ्टवेयर को पढ़कर बता देंगे।''
क्या है भिंड की ईवीएम से जुड़ा विवाद?
-भिंड में पिछले दिनों VVPAT (वोटर वेरिफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल) की चैंकिंग के दौरान ईवीएम के दो अलग-अलग बटन दबाने पर कमल का फूल प्रिंट हुआ। बता दें कि भिंड के अटेर में अगले हफ्ते बाय इलेक्शन होना है। ये सीट एमपी असेंबली में लीडर अपोजिशन रहे सत्यदेव कटारे के निधन से खाली हुई है।
- वहीं, जब मीडिया ने सवाल उठाया तो चीफ इलेक्टोरल ऑफिसर सलीना सिंह ने कहा- "खबर छापी तो थाने भिजवा दूंगी।" कांग्रेस समेत दूसरे राजनीतिक दलों ने मामले पर उठाए सवाल हैं।
- मध्य प्रदेश की अटेर और बांधवगढ़ विधानसभा सीट के लिए 9 अप्रैल को उपचुनाव होना है। दोंनों विधानसभा चुनाव में इस बार VVPAT का यूज होगा। अब मामले में इलेक्शन कमीशन ने रिपोर्ट मांगी है। 
आप कांग्रेस ने की थी ईसी से शिकायत
- भिंड में मशीनों में गड़बड़ी सामने आने के बाद कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने शनिवार को इलेक्शन कमीशन (ईसी) से शिकायत की थी।
- केजरीवाल ने कहा था कि अब बीजेपी सारे इलेक्शन जीतेगी और ईवीएम के दलदल से कमल खिलेगा।
- उधर, दिग्विजय ने कहा कि मुझे शुरू से ही ईवीएम पर भरोसा नहीं था। इलेक्शन पेपर बैलेट पेपर से कराने चाहिए।

No comments:

Post a Comment